बहन मायावती (MAYAWATI) – Bahujan samaj party

  Mayawati ji in Hindi -बहन मायावती जी हिंदी में

mayawati_in_hindi

आज हम उत्तर प्रदेश की राजनीति की एक ही उम्दा राजनेता और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की (MAYAWATI IN HINDI) जी के बारे में बात करेंगे, जो दलितों और पिछड़ों की एक दमदार नेता मानी जाती है, और BSP (बहुजन समाज पार्टी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर आसीन है, और बहुत ही बढ़िया ढंग से वह इस पद का निर्वहन कर रही है।
 जहां भी उत्तर प्रदेश की राजनीति की बात होती है, वहां बहन मायावती जी को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता, क्योंकि यह उत्तर प्रदेश की पूर्व में मुख्यमंत्री रह चुकी है,(MAYAWATI IN HINDI)
 चलिए आइए जानते हैं मायावती जी के व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन के बारे में,

1.मायावती जी के जन्म

2.मायावती की शिक्षा

3.मायावती जी का परिवार

4.मायावती जी की कैरियर

5.पहली बार मुख्यमंत्री

6.मायावती जी पर लिखी गई पुस्तक

7.मायावती जी के राजनीतिक

8.मायावती जी के बारे में कुछ  सुने अनसुने

बहन मायावती जी के जन्म कहा हुआ

बहन मायावती जी का जन्म दिल्ली के श्रीमती सुचेता कृपलानी अस्पताल में एक जाटव परिवार में 15 जनवरी सन 1956 में हुआ, बहन मायावती जी का असली नाम चंदा देवी हैं तथा इनके पिता का नाम प्रभु दास और माता जी का रामरती नाम था, इनके पिता भारतीय डाक-तार विभाग के वरिष्ठ लिपिक के पद पर कार्यरत थे । और माताजी एक गृहणी थी। मायावती के 6 भाई और 2 बहनें हैं।(MAYAWATI IN HINDI)
इनका पैतृक गाँव बादलपुर था, जो उत्तर प्रदेश राज्य के गौतमबुद्ध नगर जिले में स्थित है।

मायावती जी की व्यक्तिगत जानकारी
वास्तविक नाम चंदा देवी
उपनाम मायावती जी
व्यवसाय राजनीतिज्ञ
जन्मतिथि 15 जनवरी सन 1956
जन्मस्थान दिल्ली
धर्म हिन्दू
जाति ज्ञात नहीं है

मायावती की शिक्षा कहां से प्राप्त किए

मायावती जी की शिक्षा की यदि बात की जाए तो उन्होंने अपना ग्रेजुएशनसन 1975 में दिल्ली के कालंद्री वूमंस कॉलेज,दिल्ली यूनिवर्सिटी से पूरा किया.
उसके पश्चात उन्होंने सन 1976 में B.Ed की पढ़ाई उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के वीएमएलजी कॉलेज से पास की,
(MAYAWATI IN HINDI) इसके उपरांत मायावती जी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में एलएलबी की पढ़ाई के लिए दाखिला लिया और अपनी एलएलबी की पढ़ाई यहीं से पूर्ण की।



मायावती जी का परिवार मैं कौन-कौन है

मायावती जी के परिवार के बारे में, यदि बात की जाए तो मायावती जी के अलावा इनके जय भाई और दो बहने है,और जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं इनके पिता का नाम प्रभु दास और माता का नाम रामरती है, मायावती जी के भाई आनंद कुमार भी एक राजनेता है, और मायावती जी के बारे में 1 रोचक बात यह है, कि इन्होंने आज तक विवाह नहीं किया है,  और अपने अब तक के जीवन में यह अकेली ही बिता रही है और इन्होंने जीवन भर विवाह न करने का निश्चय किया हुआ है।


मायावती जी का परिवार
नाम मायावती जी
पिता का नाम प्रभु दास
माता का नाम रामरती

मायावती जी की कैरियर की शुरुआत कहां से हुई

अपनी शिक्षा पूर्ण करने के बाद मायावती जी ने अपने कैरियर की शुरुआत बतौर शिक्षिका के रूप में सन 1984 तक कार्यरत रहे,इसके बाद सन 1984 में यह बहुजन समाज पार्टी (BSP) के गठन के बाद शिक्षिका की नौकरी छोड़ काशीराम द्वारा बनाई गई “बहुजन समाज पार्टी (BSP)” की पूर्णकालिक कार्यकर्ता बन गई,
मायावती जी, काशीराम जी से बहुत प्रभावित थी, और सन 1984 में ही उन्होंने  मुजफ्फरनगर जिले की लोकसभा सीट कैराना से अपने पहले चुनाव अभियान को प्रारंभ किया, और बड़ी मेहनत के बाद बहुजन समाज पार्टी ने सन 1989 में 13 सीटों पर चुनाव जीता। और इसी चुनाव में बिजनोर से मायावती जी पहली बार संसद सदस्य के रूप में चयनित हुईके बाद सन 1994 में आरती जी को पहली बार राज्यसभा संसद का सदस्य बनाया गया



मायावती जी ने पहली बार मुख्यमंत्री की शपथ कब ली

राज्यसभा के सांसद चुने जाने के बाद धीरे-धीरे पार्टी की पेठ दलित और पिछड़ों में बढ़ती गई और सत्र 1995 में वह समाजवादी पार्टी (SP)के साथ गठबंधन कर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में आसीन हुई,और एक पहली ऐसी दलित महिला बन गई
जिसने उत्तर प्रदेश राज्य की मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला लेकिन वह बहुत कम समय के लिए वे इस पद पर कार्यरत रहे इसके बाद सन् 1996 से 98 तक मायावती उत्तर प्रदेश विधानसभा से एक विधायक के तौर पर कार्यरत रही और सन 1997 में मायावती जी पुनः दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनी, लेकिन इस बार भी वह कुछ ही महीने इस मुख्यमंत्री के पद पर कार्यरत रह पाई
सन 2001 में “बहुजन समाज पार्टी” (BSP) के संस्थापक काशीराम जी ने बहन मायावती (MAYAWATI IN HINDI) जी को दल के अध्यक्ष के रूप में अपना उत्तराधिकारी घोषित किया,
इसके पश्चात सन 2002 से 2003 के दौरान मायावती जी पुनः भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन कर सरकार में तीसरी बार मुख्यमंत्री चुनी गई इसके पश्चात भारतीय जनता पार्टी ने अपना समर्थन बहुजन समाज पार्टी से वापस ले लिया और मायावती जी की सरकार गिर गई,
इसके बाद मुलायम सिंह यादव को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया
सन 2007 में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में वह मायावती जी की “बहुजन समाज पार्टी” ने जीत हासिल की और मायावती जी को चौथी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने की सौभाग्य प्राप्त हुआ और यही समय वह एक मुख्यमंत्री के पद पर अपना कार्यकाल पूरा कर पाए
मायावती के शासनकाल के दौरान उत्तर प्रदेश के बाहर “बहुजन समाज पार्टी” अपना विस्तार नहीं कर पाई, क्योंकि उनके शासन में ज्यादातर पिछड़े वर्ग के लोग उन से मुंह मोड़ लिया करते थे।
 मायावती जी ने अपने शासनकाल मैं दलित और बौद्ध धर्म के सम्मान में कई स्मारक उत्तर प्रदेश में स्थापित किए।(MAYAWATI IN HINDI)



मायावती जी पर लिखी गई पुस्तक कौन कौन सी है

मायावती जी के ऊपर कई पुस्तकें लिखी गई इसमें सबसे पहला नाम लेखक एवं पत्रकार मोहम्मद जमील अख्तर का आता है, जिन्होंने “आयरन लेडी कुमारी मायावती” के नाम से पुस्तक लिखी, जिन्होंने “आयरन लेडी कुमारी मायावती” के नाम से पुस्तक लिखी,
मायावती जी ने भी  स्वयं दो पुस्तक “मेरा संघर्षमय जीवन” और “बहुजन मूवमेंट का सफरनामा” यह दो पुस्तक के तीन भागों में लिखें, इन सबमें सबसे बढ़िया पुस्तक “पॉलिटिकल बायोग्राफी ऑफ मायावती” जो कि अजय बोस द्वारा लिखी गई थी।  यह मायावती से संबंधित वरिष्ठ पत्रकार अजय बोस द्वारा लिखी गई, सबसे अधिक प्रशंसनीय पुस्तकों में से एक है।



मायावती जी के राजनीतिक गुरु कौन है

मायावती जी के ऊपर कई पुस्तकें लिखी गई इसमें सबसे पहला नाम लेखक एवं पत्रकार मोहम्मद जमील अख्तर का आता है, जिन्होंने “आयरन लेडी कुमारी मायावती” के नाम से पुस्तक लिखी,
 मायावती जी ने भी  स्वयं दो पुस्तक “मेरा संघर्षमय जीवन” और “बहुजन मूवमेंट का सफरनामा” यह दो पुस्तक के तीन भागों में लिखें, इन सबमें सबसे बढ़िया पुस्तक “पॉलिटिकल बायोग्राफी ऑफ मायावती” जो कि अजय बोस द्वारा लिखी गई थी।
 यह मायावती से संबंधित वरिष्ठ पत्रकार अजय बोस द्वारा लिखी गई सबसे अधिक प्रशंसनीय पुस्तकों में से एक है।



मायावती जी के बारे में कुछ  सुने अनसुने पहलुओं के बारे में जानते हैं

  1. मायावती जी को उनके कार्यकर्ताओं व समर्थकों द्वारा “बहनजी” का कह कर संबोधित किया जाता है। ( MAYAWATI IN HINDI)
  2. बहन मायावती जी का असली नाम चंदादेवी था और इसी नाम से उनकी पढ़ाई  लिखाई भी हुई थी।
  3. उनका यह उनके सक्रिय राजनीति में भाग लेने के बाद कांशीराम जी द्वारा उन्हें मायावती नाम दिया गया था।
  4. बहन मायावती को चार बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की पद पर आसीन  होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।
  5. मायावती जी स्वयं ने  दो पुस्तकें लिख चुकी है, जिसमें “मेरा संघर्ष में जीवन” और “बहुजन मूवमेंट का सफरनामा” सम्मिलित है।
  6. बसपा में प्रवेश से पहले मायावती जी ने अपने कैरियर की शुरुआत एक शिक्षिका के रूप में की थी।
  7. मायावती जी के हे भाई तथा दो बहने है।
  8. बहन मायावती उत्तर प्रदेश की एक पहेली भारतीय दलित महिला है, जो मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हुई।
  9. जब मायावती जी शिक्षिका के तौर पर कार्यरत थीं, उसी समय वह भारतीय प्रशासनिक सेवा की परीक्षा के लिए अध्ययन भी कर रही थी।
  10. मायावती जी राजनीति में आने से पहले आईएएस अफसर बनना चाहती थी
  11. हम आशा करते हैं कि आपको मायावती जी के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल चुकी होगी
  12. जो आप जानना चाहते होंगे और यदि वर्तमान की बात करें ,
  13. अर्थात 2020 मायावती से बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद का वाहन कर रही है और
  14. वहां अपने पार्टी के विकास में सतत आगे बढ़ रहे हैं।