Dr. Randeep Guleria bio and Wiki in hindi | डॉ. रणदीप गुलेरिया

  डॉ रणदीप गुलेरिया की जीवनी , विकी , जन्म , परिवार ,शिक्षा , पत्नी , नेट वर्थ , कार कलेक्शन , रोचक बातें , विवाद , संपर्क जानकारी , पुरस्कार (Dr. Randeep Guleria Biography , Wiki, Birth, Family, Education, Wife, Net Worth, Car Collection, Interesting Things, Controversies, Contact Information, Awards in hindi)


1.जन्म शिक्षा और परिवार

2. पत्नी और बच्चे

3.शुरुआती कैरियर

4.संपर्क कैसे करें

5.रोचक तथ्य

6. पुरस्कार

डॉ रणदीप गुलेरिया की व्यक्तिगत जानकारी
वास्तविक नाम डॉ रणदीप गुलेरिया
उपनाम नहीं है
व्यवसाय भारतीय पल्मोनोलॉजिस्ट और AIIMS के डायरेक्टर
जन्मतिथि 5 अप्रैल सन 1959
जन्मस्थान हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा
धर्म हिन्दू
जाति राजपूत
नेट वर्थ (2021) ज्ञात नहीं है
घर का पता ज्ञात नहीं है
कार कलेक्शन ज्ञात नहीं है

डॉ रणदीप गुलेरिया का जन्म शिक्षा और परिवार – Dr. Randeep Guleria’s birth education and family in hindi

डॉ रणदीप गुलेरिया का जन्म हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में 5 अप्रैल सन 1959 में डॉक्टर जगदेव सिंह गुलेरिया  घर हुआ,  यह 2020 में 61 वर्ष के हो चुके हैं। उनके पिता का नाम डॉ जगदेव सिंह गुलेरिया है, जो एक सामान्य चिकित्सक, हृदय रोग विशेषज्ञ और पूर्व डीन और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली के प्रोफेसर थे। रणदीप गुलेरिया के एक भाई और एक बहन है, जिनका नाम संदीप गुलेरिया और नीरू गुलेरिया हैं।
डॉ रणदीप गुलेरिया बचपन से ही पढ़ाई में देश से उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा सन 1975 में सेंट कोलंबस स्कूल दिल्ली से प्राप्त की, इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए उन्होंने इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (IGMC), शिमला में प्रवेश प्राप्त कर मेडिसिन में स्नातक पूर्ण किया। इसके बाद उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, चंडीगढ़ में प्रवेश लेकर  जनरल मेडिसिन एंड पलमोनरी (general medicine and pulmonary) में मास्टर डिग्री प्राप्त की।  इसके उपरांत डॉ रणबीर गुलेरिया दिल्ली के एम्स से पल्मोनरी, क्रिटिकल केयर और स्लीप मेडिसिन में डॉक्टरेट ऑफ मेडिसिन भी किया।

डॉ रणदीप गुलेरिया का परिवार
नाम डॉ रणदीप गुलेरिया
पिता का नाम डॉ जगदेव सिंह गुलेरिया
माता का नाम ज्ञात नहीं है
भाई का नाम संदीप गुलेरिया
बहन का नाम नीरू गुलेरिया
पत्नी / पति का नाम डॉ किरण गुलेरिया
बेटे का नाम ज्ञात नहीं है
बेटी का नाम ज्ञात नहीं है
गर्लफ्रेंड / बॉयफ्रेंड ज्ञात नहीं है

Dr. रणदीप गुलेरिया की पत्नी और बच्चे – Dr. Randeep Guleria’s wife and children in hindi

डॉ गुलरिया की पत्नी का नाम डॉ किरण गुलेरिया है, जो कि एक स्त्री रोग विशेषज्ञ है। डॉ किरण गुलेरिया यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज में प्रसूति और स्त्री रोग विभाग में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है। डॉ रणदीप गुलेरिया के बच्चों की यदि बात की जाए तो उनके बच्चों के बारे में किसी भी प्लेटफार्म पर कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं है।



डॉ रणदीप गुलेरिया का शुरुआती कैरियर – dr Randeep Guleria’s early career in hindi

डॉ रणदीप गुलेरिया ने अपनी पढ़ाई पूर्ण होने के बाद अपने कैरियर की शुरुआत पोस्ट ग्रेजुएशन इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च कॉलेज से एक सहायक प्रोफेसर के रूप में सन 1984 में की थी, यहां उन्होंने 1992 तक लगभग 8 साल सेवा दी।
फिर उन्होंने 1992 में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान हमें पल्मनोलॉजी और नींद विकार विभाग में सहायक प्रोफेसर के रूप में कार्य किया, और कुछ वर्षों बाद उन्हें एक प्रोफेसर के रूप में नियुक्त किया गया। फिर उन्होंने कभी एम्स को नहीं छोड़ा।
2011 में उन्होंने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में श्वसन रोगों और नींद  विकार विभाग के लिए एक केंद्र स्थापित किया। और उन्होंने पल्मनोलॉजी और नींद विकार के क्षेत्र में बहुत योगदान किया। जिसकी बदौलत उन्हें लगातार तीन वर्षों (2014, 2015 और 2016) तक उनकी लीडरशिप में उनके विभाग को नेल्सन सर्वेक्षण में पुरस्कृत किया गया, और इसका श्रेय रणदीप गुलेरिया को ही दिया जाता है।
इसी के साथ डॉ रणदीप गुलेरिया को सन 2017 में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली के डायरेक्टर पद पर नियुक्त किया गया, और भी आज भी अपने पद को भलीभांति संभाल रहे हैं, और अपने कर्तव्यों का निर्वाहन कर रहे हैं। अब आगामी आदेश तक या 65 वर्ष की आयु तक इस पद पर बने रहेंगे।
वे सिर्फ अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली के डायरेक्टर पद पर ही नहीं नियुक्त है, बल्कि इसके साथ-साथ वे भारत या भारत से बाहर होने वाली सभी स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियों या चिकित्सा संघटनो  से आंशिक या पूर्ण रूप से किसी पद या एक सदस्य के तौर पर जरूर नियुक्त है, और उन्हें स्वास्थ्य क्षेत्र में बड़े सम्मान दिया जाता है। डॉ रणदीप गुलेरिया को भारतीय चिकित्सा विशेषज्ञों में से एक माना जाता है, और अब हम आपको उनके अन्य चिकित्सा संगठनों और कार्यभारो के बारे में बताएंगे जो, वह एम्स के निदेशक के अलावा संभालते हैं।

  1. डॉ रणदीप गुलेटिया टीकाकरण और इन्फ्लूएंजा टीकाकरण पर अपने वैज्ञानिक सलाहकार समूह के विशेषज्ञों (SAGE) के सदस्य के रूप में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से जुड़े हैं।
  2. डॉ गुलेटिया जी  एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इंडिया, इंडियन चेस्ट सोसाइटी और नेशनल कॉलेज ऑफ चेस्ट फिजिशियन ऑफ इंडिया के आजीवन सदस्य हैं। 
  3. वह विकिरण सुरक्षा से संबंधित मुद्दों पर अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA), वियना में एक सलाहकार के रूप में भी कार्यरत है।
  4. डॉ गुलेटिया जी COVID-19 के लिए बनाएगी टास्क फोर्स के सदस्य भी हैं।
  5. डॉक्टर रणदीप अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली के डायरेक्टर पद का निर्वहन कर रहे हैं।
  6. डॉ.गुलेरिया के अपने जीवन काल मे 268 शोध और निष्कर्षों पर आर्टिकल लिख चुके हैं, जिसमे से  117 आर्टिकल को रिसर्चगेट (एक ऑनलाइन ज्ञान भंडार) द्वारा प्रकाशित किया जा चुका हैं।
  7. डॉ रणदीप को एम्स,दिल्ली में सांस की बीमारियों और नींद की दवा के लिए एक केंद्र स्थापित करने के प्रयासों का श्रेय दिया जाता है।

डॉ रणदीप गुलेरिया के बारे में रोचक तथ्य – Interesting facts about Dr Randeep Guleria in hindi

  1. डॉ रणदीप गुलेरिया को 2015 में पद्मश्री से नवाजा जा चुका है, और इनके पिता जगदेव सिंह गुलेरिया भी पद्मश्री से पुरस्कृत किए जा चुके हैं।
  2. वे पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी के निजी चिकित्सक रह चुके हैं।
  3. उन्हें राज नंदा ट्रस्ट और रॉयल कॉलेज ऑफ फिजिशियन, यूके से राज नंदा पल्मोनरी डिजीज फैलोशिप भी प्राप्त है।
  4. उनका जन्म हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में हुआ है।
  5. उनकी पत्नी किरण गुटेरिया भी एक डॉक्टर है, वह भी रोग विशेषज्ञ हैं।

डॉ रणदीप गुलेरिया को प्राप्त पुरस्कार

डॉ रणदीप गुलेरिया प्राप्त अवार्ड
साल श्रेणी पुरस्कार
2010 ज़ी टीवी और एलआईसी “स्वच्छ भारत पुरस्कार”
2011 हिमांचल सरकार हिमाचल गौरव
2014 इंडियन चेस्ट सोसाइटी लुंग इंडिया में सर्वश्रेष्ठ लेख के लिए “लंग इंडिया अवार्ड” मिला।
2014 डॉ. बीसी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार चौथे सर्वोच्च “प्रख्यात चिकित्सा व्यक्ति” श्रेणी चौथे
2019 भारत सरकार सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार “पद्म श्री”